रतलाम। मां लक्ष्मी को धन की देवी माना जाता है। देवी लक्ष्मी की पूजा लोग धन में सुख-सुविधा बनी रहे इसलिए करते हैं। माता लक्ष्मी को हर कोई प्रसन्न करना चाहता है ताकि उनके घर में हमेशा धन और वैभव की बरसात होती रहे। लेकिन इन सबके बीच हिंदू धर्म में कई तरह की भ्रांतियां भी हैं। हालांकि यह लंबे समय से चलती आ रही हैं और लोगों की इसमें गहरी आस्था है।

इसी आस्था के बल पर लोग मंदिरों में पूजा-अर्चना के साथ-साथ अपने घर की अमूल्य चीजों को भी दान कर देते हैं। दीवाली का मौसम शुरु हो चुका है। देश भर में स्थित माता लक्ष्मी के सभी मंदिरों में भक्तों की भीड़ देखी जा सकती है। मध्यप्रदेश में भी माणक चौक पर स्थित मां लक्ष्मी का ये मंदिर लोगों के बीच खासा प्रसिद्ध है।

जरुर पढ़ें:  Video: हॉट उर्वशी रौतेला का हॉट डांस देखकर सांसे थम जाएंगी

मान्यता है कि इस मंदिर में जो भी लोग अपना धन-सम्पदा जमा करते हैं उनके घर में सदा माता की कृपा बनी रहती है। मंदिर में मात्र दो दिनों में 1600 से ज्यादा श्रद्धालु अपना धन लेकर जमा कर चुके हैं। इनमें से कई ने चांदी के हाथी तो कोई घर के जेवर को मंदिर में जमा करवाया है। मंदिर में 4 नवंबर तक श्रंगार साम्रग्री ली जाएगी।

मंदिर में धन, वैभव व सुख-समृद्धि की देवी महालक्ष्मी मंदिर की नोटों से सजावट होने लगी है। इस मंदिर में वैसे तो हमेशा से ही लोगों की भीड़ होती है और लोग अपना इस मंदिर में जमा कराते हैं, लेकिन इस बार कुछ अलग है। इस बार माता के दरबार में बड़ी नोटों को भक्त जमा करवा रहे हैं। इनमें 200, 500 और 2000 के नोट शामिल हैं।

जरुर पढ़ें:  तानाशाह किम जोंग की बीवी की वो सच्चाई, जिसे पूरी दुनिया से छिपाकर रखा गया

बता दें कि मंदिर की यह सजावट धनतेरस से दीवाली तक रहेगी। ऐसी मान्यता है कि जिस किसी का धन महालक्ष्मी के श्रंगार के लिए लगता है, उनके घर में हमेशा सुख समृद्धि बनी रहती है।

Loading...