इतिहास किस्सों-कहानियों से भरा पड़ा है। कुछ किस्से तो इतने रोचक और रहस्यमयी हैं, कि उनके सच होने पर यकीन ही नहीं होता, लेकिन ये हैं और लोग इनपर विश्वास करते हैं। इतिहास के सीने में दफ्न एक ऐसा ही किस्सा है उत्तरी अफ्रीका के एक देश ‘मोरक्को’ का। जहां के इतिहास में एक सबसे क्रूर शासक दर्ज हैं, जिसकी सैकड़ों रखैले थीं और हज़ार से ज्यादा बच्चे।

सुल्तान मौलय

हमने पुराणों में पढ़ा है, कि कुंती के 100 पुत्र थे, लेकिन ये किसी पुरुष के सहवास से पैदा नहीं हुए थे, बल्कि दैवीय आशीर्वाद से कुंती ने इन्हें जन्म दिया था। लेकिन क्या कोई पुरूष इतने बच्चे पैदा कर सकता है ? सवाल इसलिए है, क्योंकि इतिहास में एक राजा ऐसा मौजूद हैं, जिसके 50, 100, या 500 नहीं बल्कि पूरे 1000 बच्चे थे। इस राजा का नाम था ‘सुल्तान मौलय इस्माइल’, जिसने 1672 से लेकर 1727 तक ‘मोरक्को’ पर राज किया।

जरुर पढ़ें:  उस धारा-35A की पूरी कहानी, जिसपर इतना बवाल मचा है

सुल्तान मौलय को इस्लाम के संस्थापक मुहम्मद का वंशज माना जाता है। इसपर किसी को संशय नहीं है, लेकन उसके 1,000 बच्चों के पिता होने को लोगों ने मिथ ही माना। हालांकि वैज्ञानिकों ने इतिहास में दर्ज इन आंकड़ों पर संदेह जताते हुए उसकी  पुष्टि के लिए वैज्ञानिकों की  टीम से इसका कम्प्यूटर परीक्षण कराया और इसकी जांच की। इस जांच में ये पाया गया, कि अगर कोई इंसान 32 साल तक लगातार रोज अलग-अलग महिलाओं के साथ एक बार संबंध बनाए तो ये मुमकिन है । हांलाकि गिनिज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड के मुताबिक सुल्तान के 888 बच्चे थे। हालांकि सुल्तान के 1000 बच्चों के पार फ्रेंच के कूटनीतिज्ञ उनके 1,171 बच्चे होने का दावा करते हैं।

मोरक्को का सुल्तान मौलय

इतिहास में अपनी विलासिता के लिए मशहूर ये राजा सिर्फ अपने बीवी और बच्चों को लेकर ही चर्चित नहीं हैं, बल्कि इसकी क्रूरता के किस्सों की भी भरमार है। ये राजा कितनी निर्दयी और क्रूर था इसकी बानगी उसके शासन की शुरूआत में ही मिलती है। सुल्तान मौलय ने मोरक्को के शहर फैज में 400 आदमियों के सिर काटकर अपने सल्तनत की शुरुआत की थी। मौलय ने अपने 55 साल के राज्यकाल में तकरीबन 30,000 लोगों का शोषण किया और उन्हें मौत के घाट उतार दिया। इसमें युद्ध में मारे जाने वाले वो सैनिकों और राजा शामिल नहीं हैं, जिन्हें लड़ाई के दौरान बर्बरता के मशहूर मौलय से सामना करना पड़ा था।

जरुर पढ़ें:  एक नवाब जो संडास से चलाता था अपना राज-पाट
अपनी फौज के साथ मौलय

सुल्तान मौलय मोरक्को के इतिहास का सबसे शक्तिशाली राजा है। जो बेहद बेरहम था, इसीलिए उसे “खूँखार रक्तपिपासू” की उपाधि से नवाज़ा गया। मौलय ने डेढ़ लाख सैनिकों की मदद से मोरक्को में क्रूरता का आंतक फैला रखा था। सुल्तान मौलय इतना सनकी और शक्की था कि, वो अपनी चार बीवियों के साथ ही 500 रखैलों पर बेहद पैनी निगाह रखता था। उसके दरबार और इलाके का कोई भी शख्स बिना उसकी इजाज़त इनसे बात तक नहीं कर सकता था और ऐसा करते पाए जाने पर ये सुल्तान उसे बेरहमी से मौत के घाट उतार देता था। 

बेहद शक्तिशाली लेकिन अय्याश इस सुल्तान की 80 साल की उम्र में ही मौत हो गई। उसके बाद उसकी सल्तनत पर कब्जे को लेकर उसकी औलादों के बीच ही फसाद शुरू हुए। लेकिन 1755 में मौरक्कों में आए भीषण भूकंप ने उसके साम्राज्य लगभग तबाह कर दिया था। मोरक्को के इतिहास दर्ज इस क्रूर शासक की निशानियां आज भी मौजूद हैं और वर्तमान में भी मोरक्को में उसके वंशज शासन कर रहे हैं।