भारतीय समाज में शादियों का एक ही अलग स्थान है। सभी लोग चाहे फिर वो बच्चा हो या फिर बूढा हर कोई शादियों को पूरी तरह से एन्जॉय करता है। शादियों की खुशखबरी हमें शादी के कार्ड से सबसे पहले मालूम होती है उसके बाद ही हम अपने बाकी सारे प्लान बनाने स्टार्ट करते हैं|आजकल बाजार में कई तरह के कार्ड आ गये हैं, जिनमें से कईयों की कीमत तो आसमान जितनी ऊंची होती है| लेकिन मध्यप्रदेश के एक शहर में छपे शादी के एक कार्ड ने फिलहाल सोशल मीडिया पर धूम मचा रखी है, वजह इसकी कीमत नहीं बल्कि इसके पीछे की सोच है।

जरुर पढ़ें:  गजब-फिल्मों में इस्तेमाल करोडों रुपए के कपडों का ये किया जाता है

हाल ही में इंटरनेट पर रिलायंस इंडस्ट्रीज के मालिक मुकेश अंबानी के बेटे आकाश अंबानी के बेटे के शादी के कार्ड तस्वीरें वायरल हो रही थीं। हालांकि इसकी पुष्टि नहीं हुई, लेकिन चर्चा चल रही थी कि आकाश की शादी का कार्ड करीब डेढ़ लाख की कीमत का है। इतना महंगा कार्ड जिस मेहमान के पास जाएगा तो जरा सोचिए, कि वो उसे कैसे संभाल कर रखेगा। लेकिन मध्य प्रदेश के कटनी जिले के विलायतकलां गांव के रहने वाले वीरेन्द्र तिवारी ने अपनी बेटी के लिए जो शादी का कार्ड छपवाया है, वो कीमत के मामले में भले ही मुकेश के बेटे की शादी के कार्ड से काफी सस्ता हो, लेकिन वैल्यू के मामले में डेढ़ लाख के कार्ड से भी महंगा है।

जरुर पढ़ें:  OMG ये है, दुनिया का सबसे बडा समोसा, कभी देखा है इतना विशाल समोसा ?

वीरेंद्र ने अपने बेटी के शादी का कार्ड आधार कार्ड की थीम पर छपवाया है, जो देखने में तो पूरी तरह आधार कार्ड की तरह लग रहा है। शादी के इस कार्ड को देखकर आप ये नहीं कह सकते, कि ये शादी का कार्ड ही है| लेकिन वीरेंद्र ने एक नई सोच को उजागर किया है, जोकि समाज को जागरूक करने में काफी सहायक बन रही है| वीरेंद्र एक किसान हैं और किसानी के साथ साथ वो एक मैरिज ब्यूरो भी चलाते हैं।

Loading...