अगर आप किताबें पढ़ने के शौकीन हैं तो ये खबर आपके लिए बेहद रोमांचक हो सकती है. कई पुस्तक प्रेमि किंडल या स्मार्टफोन पर मिलने वाली किताबों को पढ़ना पसंद करते हैं. लेकिन अगर आप से ये कहा जाएं कि एक शख्स ने लगभग 100 साल पुराने पेड़ पर ही लाइब्रेरी बना डाली है, तो आपको कैसा लगेगा. ज़ाहिर कि आपको इस बात पर यकीन नहीं होगा, लेकिन आपको बता दें कि ये बात बिल्कुल सच्च हैं.

जी हां, लिटिल फ्री लाइब्रेरी संस्था ने एक क्रिएटिव लाइब्रेरी को पेश की है. करीब 100 साल पुराने पेड़ पर संस्था ने जो लाइब्रेरी बनाई है, उसे देखकर आपका मन भी लाइब्रेरी में जाकर किताब पढ़ने का होने लगेगा. बता दें, अमेरिका के इडाहो राज्य में एक आर्टिस्ट ने घर के बाहर सूखे पेड़ में छोटी लाइब्रेरी बनाई है. इसमें बच्चों की 70 से ज्यादा किताबें रखी हैं. उनका कहना है कि इस लाइब्रेरी को बनाने में 73 डॉलर यानी करीब 5,133 रुपए खर्च हुए हैं.

जरुर पढ़ें:  अब मत कहना, कि पेंड़ों पर पैसे उगते हैं क्या ? यहां पेड़ पर सिर्फ पैसे ही उगते हैं!

लिटिल फ्री लाइब्रेरी एक गैर-लाभकारी संगठन है, जो दुनिया भर में पुस्तकालयों के निर्माण और उनके कायाकल्प का काम करता है. आर्टिस्ट ने लिटिल ट्री लाइब्रेरी को अपने घर के पीछे लगे लगभग 100 साल पुराने पेड़ पर रचनात्मक तरीके से बनाया है. पेड़ के निचले हिस्से को काटकर अलमारी का रूप दिया है. उसके अंदर छोटी-छोटी एलईडी लाइटें और बाहर एक बल्ब लगाया है.

रिपोर्ट के मुताबिक, दुनियाभर में 75 हजार फ्री छोटी लाइब्रेरी रजिस्टर्ड हैं, उनमें से ये सबसे अलग है. इस पेड़ के तने पर एक छत बनाई है और अंदर नक्काशी करके उसमें एक दरवाजा लगाया गया है. बता दें, इस लाइब्रेरी से मुफ्त में किताब लेकर पढ़ी जा सकती हैं. इस लाइब्रेरी में वयस्कों की फिक्शन, बच्चों की किताबें सहित कई अन्य किताबें उपलब्ध हैं.

जरुर पढ़ें:  20 मिनट तक पानी के अंदर रह सकते हैं जिन्दा, समंदर में ही इनका बसेरा

जानकारी के लिए बता दें कि लिटिल फ्री लाइब्रेरी परियोजना लोगों को दुनिया भर में इसी तरह के छोटे पुस्तकालय बनाने के लिए प्रोत्साहित करती है. अब तक 88 देशों में 75,000 से अधिक पुस्तकालय बनाए जा चुके हैं. साथ ही इस लाइब्रेरी में कभी भी कोई भी व्यक्ति किताबें दान कर सकता है.

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here