इन दिनों अमेरिका के राष्ट्रपति Donald Trump सुर्खियों में छाए हुए हैं, वजह है पाकिस्तान के प्रति उनका कड़ा रवैया। Trump ने पिछले दिनों अमेरिका की तरफ से पाकिस्तान को मिलने वाली 1700 मिलियन डाॅलर की मदद को बंद कर दिया है, जिसकी वजह से पाकिस्तान पूरी तरह से सकपका गया है।

Donald Trump

लेकिन क्या आप जानते हैं कि राष्ट्रपति Trump मीडिया के सामने चहलकदमी करते हुए दिखाई देते हैं, व्हाइट हाउस में वो उतने ही डरे सहमे रहते हैं, यहां तक कि ट्रंप किसी को अपना टूथ ब्रश भी छूने नहीं देते।इस बात का खुलासा अमेरिकी पत्रकार माइकल वॉल्फ की नई किताब ‘फायर एंड फरी: इनसाइड द ट्रंप व्हाइट हाउस’ में किया गया है। माईकल वाल्फ़ ने इस किताब का निर्माण, अपने 18 महीने के white House के सदस्यों से की गई पूछताछ के आधार पर किया है, जिसमें उन्होंने प्रेसिडेंट ट्रम्प से जुड़े कई राज खोले हैं।

जरुर पढ़ें:  4 साल के इस बच्चे के सामने Google भी है फेल, सबकी बोलती कर रखी है बंद
Demo Pic

‘फायर एंड फरी: इनसाइड द ट्रंप व्हाइट हाउस’ के अनुसार –

1.अगस्त में, जब वे हिलेरी क्लिंटन से 12 प्वाइंट पीछे चल रहे थे, उन्हें हार का डर सताने लगा। राइट विंग बिलेनियर रॉबर्ट मर्सर (जिन्हें ट्रंप नहीं जानते थे) ने ट्रंप के सामने 5 मिलियन डॉलर का प्लान पेश किया। मर्सरस और उनकी बेटी रेबेका ने कैंपेन में बढ़त बनाने के लिए ट्रंप को पूरा प्लान समझाया| ऐसे में ट्रंप मना नहीं कर सके|

Donald Trump

2. व्हाइट हाउस शिफ्ट होने के बाद ट्रंप किसी को अपना टूथब्रश भी नहीं छूने देते थे। यहां तक कि वो अपनी शर्ट को भी हाथ नहीं लगाने देते थे। दरअसल उन्हें जहर दिए जाने का डर सताता रहता है।

जरुर पढ़ें:  अपना नाम यहां पर दर्ज करवाने के लिए युवक ने मधुमक्खियों से लिया पंगा

3. ट्रंप ने व्हाइट हाउस के बेडरूम को टीवी देखने वाले कमरे में तब्दील कर दिया है और वे अपने बेड पर ही चीजबर्गर खाते हैं।

Donald Trump and His Wife

4. ‘इनॉगरेशन डे’ पर ट्रंप काफी परेशान थे। उन्होंने अपनी पत्नी से झगड़ा किया। वे इस बात से परेशान थे कि कुछ बड़े सेलिब्रिटी इस कार्यक्रम में शामिल नहीं होना चाहते थे।ट्रंप को शपथ ग्रहण समारोह में मज़ा नहीं आया था। वे गुस्सा था कि कुछ बड़े सेलिब्रिटी इस इवेंट में शामिल नहीं हुए थे। वे पूरे कार्यक्रम में चिड़चिड़े रहे और अपनी पत्नी से झगड़ते रहे।

5. रूपर्ट मर्डोक सहित ट्रंप के कई सहयोगी सरकारी और विदेश नीतियों पर उनकी समझ को लेकर हैरान थे। मर्डोक ने तो एक बार उन्हें ‘बेवकूफ’ तक कह दिया था।

मर्डोक ने उन्हें सलाह दी थी कि H-1B वीजा को लेकर लिबरल रवैया, मेक्सिको बॉर्डर और इमीग्रेंट्स को लेकर किए गए वादों के आड़े आ सकता है। लेकिन ट्रंप पर इसका कोई असर नहीं पड़ा और उन्होंने कहा, “हम देख लेंगे।” ट्रंप के फोन रखते ही मर्डोक बोले, “क्या बेवकूफ है.”

हालांकि व्हाइट हाउस ने इन बातों को शिरे से नकारते हुए, इस किताब को पूरी तरह से झूठ से भरी बताया है और इसमें उन लोगों के हवाले से भ्रामक तथ्य रखे गए हैं, जिनकी व्हाइट हाउस तक कोई पहुंच नहीं है। व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव सारा सैंडर्स ने कहा कि पत्रकार माइकल वॉल्फ कभी ट्रंप से मिले ही नहीं।

जरुर पढ़ें:  हेडिंग में कलाकारी करने के चक्कर में कर दी गड़बड़

अब देखना यह है कि व्हाइट हाउस के प्रवक्ता की बातों में और किताब  ‘फायर एंड फरी: इनसाइड द ट्रंप व्हाइट हाउस’ में कितनी सच्चाई है।