सोचिये यदि आपके पास अचानक ही करोड़ों रुपये आ जाए तो आप क्या करेंगे। आपके मन में बहुत सारे ख्याल आ रहे होंगे। जैसे कि एक घर खरीदना, बेटे की पढ़ाई, इत्यादि। आप इन पैसों से अपनी सारी इच्छाएं पूरी करने की कोशिश करेंगे। ऐसी ही एक घटना घटी एक रिक्शा चालक के साथ।

अपनी बेटी के लिए 300 रुपये में घिसी हुई टायर वाली एक साइकिल खरीदने के लिए साल भर पैसे जमा करने वाला एक रिक्शा चालक अपने बैंक खाते में तीन अरब रुपये (पाकिस्तानी मुद्रा) जमा देख कर दंग रह गया। वह अपने इस खाते का इस्तेमाल भी नहीं कर रहा था।

जरुर पढ़ें:  दुनिया की सबसे महंगी साइकिल, फिचर और कीमत जानकर दिमाग घूम जाएगा

मनी लाउंड्रिंग गतिविधियों का शिकार बने मोहम्मद रशीद नाम के 43 वर्षीय रिक्शा चालक ने बताया, ‘मैं यह सब देख कर पसीने से तर-बतर हो गया और थर-थर कांपने लगा।’ रशीद को जब जांच एजेंसी का फोन कॉल आया तो वह छिपने की कोशिश में लग गया। लेकिन दोस्तों और रिश्तेदारों के समझाने पर वह अधिकारियों को सहयोग करने को तैयार हो गया।

पाकिस्तान में इस तरह की कई घटनाएं सामने आ चुकी हैं। स्थानीय अखबारों में ऐसी कई घटनाओं के बारे में प्रकाशित हो चुकी है। इस तरह की घटनाओं में किसी गरीब के खाते में रुपये अचानक आते हैं और फिर तुरंत ही हस्तांतरित भी हो जाते हैं। इस तरह से करोड़ों डॉलर की रकम तुरंत ही देश के बाहर चला जाता है।

जरुर पढ़ें:  बड़ा खुलासा: सीरिया नहीं बल्कि अब पाकिस्तान है दुनिया में आतांकवाद का सबसे बड़ा गढ़

गौरतलब है कि पाकिस्तान के नये प्रधानमंत्री इमरान खान ने धन शोधन की गतिविधियों पर रोक लगाने का संकल्प लिया है। जिसके तहत इस तरह के मामलों पर कड़ी नजर रखी जा रही है। हालांकि रशीद इस मामले में अब दोषमुक्त हो गया है, लेकिन उसके अंदर बेचैनी बरकरार है।

रशीद ने बताया कि तनाव के चलते उनकी पत्नी बीमार पड़ गई। दरअसल, चंद पलों के लिए बेशुमार दौलत पाने के कुछ ही हफ्ते पहले उन्होंने अपनी बेटी के लिए 300 रूपये में घिसी हुई टायर वाली एक साइकिल खरीदी थी।

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here