तिल का ताड़ कैसे बनाया जाता है, ये जानना हो तो सोशल मीडिया पर आ जाइए यहां आपको ऐसी-ऐसी चीजें मिल जाएंगी, जो आपने जीवन में कभी नहीं देखी होगी। सोशल मीडिया का बढ़ता दायरा जितना लोगों को अवेयर कर रहा है, उतना ही ये अफवाह फैलाने का माध्यम भी बन गया है। सोशल मीडिया पर किसी भी चीज पर बवाल होते देर नहीं लगती। खबर सच है या झूठ इसकी पडताल किए बिना लोग उसे सच मानकर शेयर करते रहते हैं। इन दिनों ऐसा ही एक बवाल सोशल मीडिया पर चल रहा है। दरअसल राजस्थान के अलवर में ये अनोखी बाइक मिली है, जो देखने में डायनामाइट से लैस नज़र आती है। इसी बाइक की तस्वीरों को शेयर कर लोग सोशल साइट पर अफवाह फैला रहे हैं।

Image from facebook

फेसबुक पर शेयर हो रही इस गाड़ी के पिक के साथ एक मैसेज दिया जा रहा है, जो बेहद ही चौंकाने वाला है। गाड़ी की इन तस्वीरों के साथ लिखा है, ‘राजस्थान के भिवाड़ी में पकड़ी गई बम से लोडिंग बाइक सब के सब डरे हुए मुसलमान थे, अब कृपया महाज्ञानी लोग ये ना कहें, कि आतंकवाद का कोई धर्म नहीं होता। वंदे मातरम।’ दूसरे कई मैसेज में ये भी लिखा हुआ था कि इसे ज्यादा से ज्यादा शेयर करें, ताकि लोगों को सच्चाई का पता चल सकें। और लोग इसे किस तादात में शेयर कर रहे हैं, ये आप इस फेसबुक पोस्ट के शेयर में देख सकते हैं। अब तक इस पोस्ट को लगभग तीन हज़ार लोग शेयर कर चुके हैं। ये तस्वीरें 12 अगस्त को शेयर की गई हैं।

जरुर पढ़ें:  क्या इनो और नींबू से चहरा हो सकता है गोरा- वायरल वीडियो की पूरी पड़ताल

अलवर रिहायशी इलाका माना जाता है, वहीं के भिवाड़ी से ये केस सामने आया है। दरअसल इस बाइक से आए शख्स ने इसे पार्क कर वो किसी बिल्डिंग में चला गया था। बाहर खड़ी इस बाइक को जब कुछ लोगों ने देखा तो, बवाल मच गया। इस बाइक में डायनामाइट जैसी कई बैट्रियां लगी थी और उसके तार आपस में जुड़े थे। लोगों को बम होने का शक हुऔ और तुरंत पुलिस को सूचना दी गई। मौके पर पुलिस भी ये देखकर सन्न हो गई। पुलिस को भी पहली नज़र में यही लगा कि बाइक में डाइनामाइट लगाया गया है। पुलिस ने बाइक को अपने कब्जे में लिया और इसकी जांच शुरू की।  

जरुर पढ़ें:  बीवी से जल्दी मिलने के चक्कर में फ्लाइट में बम की फैलाई अफवाह और फिर हुआ ये...

पुलिस ने इस बाइक के मालिक को खोज निकाला और जब उससे पूछताछ की तो उसने जो बताया उसे सुनकर पुलिस की सांस में सांस लौटी। दरअसल बाइक के मालिक ने बताया, कि उसने इसे मोडिफाई किया है और ये बम नहीं बल्कि बैटरियां है। चौंकाने वाली बात ये, कि ये बाइक किसी मुसलमान की नहीं, बल्कि एक फिजिक्स के टीचर राकेश डागर की है।

Demo pic

यानी फेसबुक पर फैलाई जा रही ये खबर महज़ अफवाह है, जिसे बिना सच्चाई जाने लोग शेयर कर रहे हैं और ये अफवाह तेज़ी से फैलती जा रही है। आपके पास भी अगर ऐसी ही कोई ख़बर है, जिसकी सच्चाई आप जानना चाहते हैं और लोगों को बताना चाहते हैं, तो आप उस खबर को हमें भेजें हम उसका पोस्टमार्टम कर उसकी सच्चाई से आपको रूबरू कराएँगे। क्योंकि अफवाहों को रोकना और सही खबरें पहुंचाना ही हमारा मकसद है।

Loading...