सोशल मीडिया एक ज़रिया बन गया है, जहां ज्यादातर झूठ को सच और सच को झूठ बनाकर पेश किया जाता है। अफवाहों का बाज़ार सजता है, जहां नफे और नुकसान के हिसाब से सौदेबाज़ी की जाती है। जिसके के लिए जो सौदा फायदमंद होता है, वो उसे उठाकर ट्रॉल करने लगता है, बिना उसका सच जाने और पड़ताल किए। इन दिनों बाबा राम रहीम खूब सुर्खियों में हैं, उससे जुड़े नए-नए राज बेपर्दा हो रहे हैं। उससे जुड़ी सबसे चर्चित बात ये है, कि वो बीजेपी का बाबा है और बीजेपी उसे संरक्षण दे रही है। राम रहीम को जब रेप केस में सज़ा सुनाई गई, तो बाबा को हलिकॉप्टर से जेल ले जाया गया, ऐसा सुरक्षा कारणों से किया गया था। लेकिन सोशल मीडिया एक खबर वायरल हो रही हैै, कि जिस हेलिकॉप्टर से बाबा को जेल ले जाया गया वो अडानी की है और इसी हेलिकॉप्टर से पीएम मोदी चुनाव प्रचार कर चुके हैं।

जरुर पढ़ें:  क्या बिना छत वाली ट्रेन देखी आपने? खुद देख लीजिए यह स्पेशल ट्रेन का डब्बा
Narender Modi and Ram Rahim in AW-139 chopper

सोशल मीडिया पर जो ये दावा किया जा रहा है, उसमें कितनी सच्चाई है, क्यों ये वाकई अडानी की चॉपर है, जिसे मोदी भी इस्तेमाल कर चुके हैं या फिर अफवाह को बल दिया जा रहा है। ऊपर चस्पा इन दो तस्वीरों को सोशल मीडिया पर इसी दावे के साथ खूब वायरल किया जा रहा है। तस्वीर में पीएम मोदी उसी हेलिकॉप्टर से उतरते दिख रहे हैं, जिसमें गुरमीत राम रहीम बैठे नज़र आ रहे हैं। इन तस्वीरों को ये बताकर वायरल किया जा रहा है, दोनों ही हेलीकॉप्टर के ऊपर AW-139 लिखा हुआ यानी ये चॉपर हरियाणा के बिजनस मैन अडानी का है, जिसमे सिर्फ VIP और बिजनेसमेन लोगों को ही सफर कराया जाता है। ये 15 सीटर हेलिकॉप्टर है, जो अगस्ता वेस्टलैंड कंपनी का है और इसी चॉपर मेंं पीएम मोदी 2014 के चुनाव में प्रचार के लिए इस्तेमाल कर चुके हैं।

जरुर पढ़ें:  अखिलेश यादव को योगी की पुलिस ने किया गिरफ्तार? Trending News की ये रही पूरी सच्चाई

किस वजह से फैलाई जा रही है अफवाह

ट्वीटर पर यूजर्स इस खबर खूब वायरल कर रहे है कि क्योकि पीएम मोदी और राम रहीम दोनों के हेलिकॉप्टर पर AW-139 लिखा हुआ, जिसकी वजह से लोगों का कहना है कि जिस चॉपर में देश के पीएम सफर करते है उसी में अपराधी राम रहीम को ले जाया गया और इसी वजह से इसे सोशल मीडिया पर इस खबर को लेकर बवाल मचाया जा रहा है।

क्या है खबर के पीछे का सच

आपको बता दें, कि ये खबर महज एक अफवाह है, क्योकि इंडिया में AW-139 वाले दर्जनों हेलिकॉप्टर है, और राम रहीम को जिस हेलिकॉप्टर में ले जाया गया वो किराये पर लिया गया था। जिस पर हरियाणा सरकार ने खुद सफाई दी है, कि राम रहीम को रोहतक ले जाने के लिए जो चॉपर इस्तेमाल किया गया वो एेक प्राइवेट कंपनी से किराये पर लिया गया था। वही हरियाणा के डीजीपी ने भी मीडिया को बताया कि चॉपर के अडानी के होने की बात सही नहीं है, ये झूठी खबर है।

जरुर पढ़ें:  वायरल पड़ताल : पीएम मोदी की सभा में बैठी महिलाओं ने, दिखाये 'मोदी चोर' के पोस्टर
Viral fake news

दरअसल, इस खबर का वायरल करने का मकसद बीजेपी, केन्द्र सरकार और पीएम मोदी को टारगेट करना था क्योंकि बिजनेसमेन गौतम अडानी और पीएम के करीबी होने पर विपक्ष दल के नेता हमेशा से आरोप लगाते रहे हैं। जिस वजह से इस खबर को बीजपी सराकर को टारगेट बनाया गया, यानी ये खबर पूरी तरह से एक अफवाह है जिसे सोशल मीडिया पर असली खबर बना कर उड़ाया गया।

Loading...