यूपी की आठ सीटों का एक्जिट पोल बीजेपी को प्रचंड बहुमत?

लोकसभा चुनाव को लेकर पहले चरण की वोटिंग खत्म हो चुकी है.जिसके बाद से ही ये कयास लगाने शुरू हो गए हैं कि किस पार्टी को कितनी सीटें हासिल हुई है. हालांकि बसपा मुखिया मायावती ने तो पहले चरण की वोटिंग के बाद बीजेपी पर ईवीएम में धांधली का आरोप भी लगा दिया है. तो इसी दौरान एक ऐसा एक्जिट पोल सामने आया है जिसमें बीजेपी को पहले चरण की वोटिंग में आठों सीटों पर एक बड़ी जीत मिलती हुई नज़र आ रही है. यही नहीं बल्कि इस बड़े सर्वे को बीजेपी वेस्ट यूपी नाम के एक पेज ने कराया है.

इस एक्जिट पोल को बीजेपी वेस्ट यूपी नाम के फेसबुक पेज पर शेयर करते समय लिखा गया है कि लोकसभा चुनाव 2019 पश्चिम उत्तर प्रदेश की 8 सीटों पर भाजपा को प्रचंड बहुमत, पहले चरण के चुनाव के बाद सबसे बड़ा एग्जिट पोल.

जरुर पढ़ें:  BJP के सपोर्ट में आए अभिनंदन वर्तमान, सोशल मीडिया पर वायरल हुई तस्वीरें!, झूठ या सच?

तस्वीर में आप देख सकते हैं कि एक्जिट पोल के मुताबिक 8 सीटों पर हुए लोकसभा चुनाव में बीजेपी को सहारनपुर में 54 प्रतिशत वोट मिलते हुए नजर आ रहे हैं तो वही कैंराना में 51 प्रतिशत वोटों के साथ बीजेपी को बढ़त मिल रही है. मेरठ में ये आंकड़ा बढ़ता हुआ नज़र आ रहा है जिसमें बीजेपी को 63 प्रतिशत वोट मिले हैं. वहीं अगर बिजनौर की बात करें तो इस सीट पर बीजेपी को 65 प्रतिशत वोट मिले हैं. मुजफ्फरनगर सीट पर बीजेपी को 59 फीसदी वोट मिलते हुए नज़र आ रहे हैं.

तो वहीं बागपत सीट पर 56 प्रतिशत वोट मिलते हुए दिख रहे हैं. अगर इस एक्जिट पोल के मुताबिक बात गाजियबाद की करें तो यहां बीजेपी को 65 प्रतिशत वोट मिलते हुए दिखाई दे रहे हैं. तो वहीं गौतमबुद्धनगर से बीजेपी को 69 प्रतिशत वोट मिलते हुए नज़र आ रहे हैं. यानी कि इस एक्जिट पोल के हिसाब से बीजेपी को सबसे ज्यादा वोट गौतमबुद्धनगर से मिलते दिखाई दे रहे हैं. ये वो सीट है जहां से दूसरी बार भी बीजेपी की ओर से केंद्रीय मंत्री डॉक्टर महेश को उम्मीदवार बनाया गया है. हालाकिं राजनीतिक पंडितो का मानना है कि इस बार गौतमबुद्धनगर की इस सीट से महेश शर्मा की जीत मुश्किल है.

जरुर पढ़ें:  वायरल पड़ताल : अयोध्या में पहुंची हिंन्दूओं की इतनी भीड़ कि सड़को पर पैर रखने की जगह नहीं!

यही नहीं बल्कि इस एक्जिट पोल को पश्चिम यूपी के अध्यक्ष अश्वनी त्यागी के फेसबुक पेज पर भी पोस्ट किया है. इसके अलावा कई और लोगों ने भी अपने फेसबुक अकाउंट और ट्वीटर हैंडल पर इस महा सर्वे को लगभग एक ही कैप्शन के साथ शेयर किया है.

लेकिन जब हमने इस एक्जिट पोल की पड़ताल की तो बात कुछ और ही निकली. दरअसल बीजेपी के आईटी सैल के इंचार्ज अमित मालवीय ने इस एक्जिट पोल का खडंन किया है. और उन्होंने कहा कि इस प्रकार का कोई भी सर्वे पार्टी की ओर से नहीं कराया गया है. साथ उन्होंने ये भी कहा कि जिन पेजों पर एक्जिट पोल को शेयर किया गया है वो बीजेपी के पेज ही नहीं है. जितने भी बीजेपी के खुद के पेज हैं वो वैरीफाइड हैं.

जरुर पढ़ें:  क्या मोदी वाले हेलिकॉप्टर से राम रहीम को पहुंचाया था जेल?
बीजेपी के आईटी सैल के इंचार्ज अमित मालवीय

खैर जिसने भी चुनाव आयोग के नियमों की धज्जीयों उड़ाई हैं. ये अपराध से कम नहीं है क्यों कि चुनाव आचार संहिता के मद्देनजर किसी भी तरह के सर्वे पर 19 मई की शाम वोटिंग के समापन तक रोक लगी हुई है. इसीलिए जो लोग इस तरह की किसी भी गतिविधि में लिप्त हैं, उन्हें ये जानकारी होनी चाहिए कि ये गैरकानूनी है. इसलिए हमारी पड़ताल में बीजेपी के ओर से सर्वे कराने वाले दावे एकदम फर्जी साबित हुए हैं.

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here