पांच राज्यों में हुए विधान चुनाव में कांग्रेस ने बीजेपी के तीन भगवा किलों को ढ़ाहते हुए अपना परचम लहराया दिया है.. जिसे लेकर कांग्रेस पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं में काफी उत्साह देखने को मिला. तो वहीं सोशल मीडिया पर राजस्थान में कांग्रेस की जीत के जश्न  का कार्यकर्ताओं का एक विडियो बताकर वायरल किया जा रहा है.

और इस विडियो को फेसबुक पर तरह तरह के कैप्शन के साथ शेयर किया जा रहा है. विडियो को पोस्ट करके दावा किया जा रहा है कि राजस्थान में कांग्रेस की जीत पर कार्यकर्ताओं ने पाकिस्तान के झंड के साथ पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाए.

विडियो में आप देख सकते हैं कि कुछ लोग बाइक पर सवार होकर और कुछ लोग पैदल चलकर हरा झंड़ा लेकर नारे लगाते हुए नज़र आ रहे हैं. और इस मार्च में अधिकतर लोग टोपी पहने दिख रहे हैं. जिसे देखने पर पता चलाता है कि ये लोग मुस्लिम धर्म के हैं. साथ ही पैदल चलने वाले लोगों के हाथ में हरे रंग के बड़े बैनर भी दिख रहे हैं. जिसपर उर्दू में कुछ लिखा हुआ दिखाई दे रहा है. साथ ही ये लोग अल्लाह हु अकबर भी कहते हुए नज़र आ रहे हैं.

जरुर पढ़ें:  वायरल सच : धोनी, पत्नी साक्षी के साथ कांग्रेस के भारत बंद में हुए शामिल..

और इस पूरे विडियो को लोग कांग्रेस की जीत के जश्न का बताकर सोशल मिडिया पर जमकर शेयर रहे हैं. एक यूजर ने इस विडियो को अपने फेसबुक अकांउट पर पोस्ट करते समय लिखा है. कि कांग्रेस समर्थक हिन्दु भाइयो मुबारक हो आपकी चाहत की मांग शुरू हो गयी है.

इसके अलावा विडियो को कई और लोगों ने इस तरह का एंगल देकर ही फेसबुक पोस्ट किया है. फिर क्या था हमने इस विडियो की सच्चाई जानने के लिए पड़ताल शुरु की. तो पता चला कि ये यूपी के  विडियो संभल जिले का है. जो फेसबुक पर 2016 में अप्लोड किया गया था.

जरुर पढ़ें:  वायरल पड़ताल : कांग्रेसियों ने राजस्थान की एक सभा में लगाए "पाकिस्तान जिंदाबाद" के नारे!

और हमने इस विडियो के आडियो को फ्रेम बाई फ्रम सुना तो पता चला कि जो लोग नारे लगा रहे हैं. वो पाकिस्तान के नहीं बल्कि बाबरी दोबारा बनवाने के लिए नारे लगा रहे हैं. साथ ही पड़ताल में एक बात और सामने कि हर साल 6 दिसंबर को मुस्लिम धर्म के लोग बाबरी मस्जिद को दोबारा बनवाने के लिए मार्च निकालते हैं. ये सिलसिला 1992 के बाद से चलता आ रहा है. जब बाबरी मस्जिद गिराई गई थी.

इसलिए हमारी पड़ताल में विडियो तो ठीक निकली लेकिन जिन दावो के साथ सोशल मीडिया पर शेयर किया जा रहा है वो एक दम फर्जा साबित हुए.

जरुर पढ़ें:  Google के नाम पर हर्षित के साथ हुआ फ्रॉड, फर्जी है 1.44 करोड़ के ऑफर की ख़बर

Loading...