भारत-न्यूजीलैंड के बीच के खेले गए सेमीफाइनल मैच में भारत को 18 रनों से हार का सामना करना पड़ा जिसके चलते भारत सीधे वर्ल्डकप से बाहर हो गया है. मैच में हार की बड़ी वजह भारत के बैटिंग ऑडर का फ्लॉप होना था. जिसमें दोनों ओपनर रोहित शर्मा और के एल राहुल 1 रन बनाकर आउट हो गए. फैन्स को कप्तान कोहली से काफी उम्मीदें थी लेकिन कोहली भी सिर्फ 1 रन बनाकर पवेलियन लौट गए. इस मैच में अपने बल्ले से कमाल न दिखाने के साथ साथ विराट की कप्तानी पर भी सवाल उठाए जा रहे है. विराट पाकिस्तान के खिलाफ चैंपियंस ट्रॉफी 2017 के फाइनल की ही तरह न्यूजीलैंड के खिलाफ सेमीफाइनल मैच में भी चूक गए. अब तक न तो विराट की कप्तानी का जादू आईपीएल टूर्नामेंट में चला है और न ही किसी ग्लोबल क्रिकेट टूर्नामेंट में उनका दम दिखा.

जरुर पढ़ें:  डेविड वॉर्नर के बल्ले ने बनाया था उन्हें वॉर्नर

 

ये बात हम नहीं बल्कि उनकी कप्तानी के आंकड़े कह रहे है. आईपीएल में भी कोहली अब तक अपनी टीम आरसीबी को चैंपियन नहीं बना पाए हैं और अब वर्ल्ड कप में भी उन पर लगा चोकर्स का ठप्पा हटने का नाम नहीं ले रहा है. वर्ल्ड कप टूर्नामेंट मौजूदा दौर में दुनिया के सबसे बेहतरीन खिलाड़ियों में से एक विराट के लिए बल्लेबाज ही नहीं कप्तान के तौर पर भी खुद को साबित करने का बड़ा मौका था लेकिन उन्होंने ये मौका भी गवा दिया.

2017 में कोहली ने इंग्लैंड में खेले गए मिनी वर्ल्ड कप यानी चैंपियंस ट्रॉफी में भारत को टूर्नामेंट के फाइनल तक पहुंचाया था. लेकिन इस टूर्नामेंट में भी विराट टीम को जीत नहीं दिला पाए. लेकिन फैंस को उम्मीद थी कि भारत को चैंपियंस ट्रॉफी 2017 रनरअप बनाने वाले कोहली इस बार टीम इंडिया को वर्ल्ड कप जितवा देंगे. लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ. उनका बल्ला बड़े मैच में खामोश रहा और टीम इंडिया वर्ल्ड कप से बाहर हो गई.

जरुर पढ़ें:  ICC WorldCup2019 : विश्वकप में ये 5 ऑल राउंडर मचाएंगे धमाल

आपको अगर याद होगा तो वर्ल्ड कप 2015 सेमीफाइनल मैच में भी विराट ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 1 रन बनाकर आउट हुए थे. विराट कोहली ने अपने क्रिकेट करियर में अब तक कुल 6 वर्ल्ड कप नॉक आउट मैच खेले हैं. इन मैचों में विराट ने कुल 73 रन बनाए हैं. जो न सिर्फ कप्तान होने के नाते बल्कि वर्ल्ड के बेस्ट बल्लेबाज होने के नाते भी शर्मनाक है.

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here