आज पाकिस्तान में टीवीयां तो नहीं फूट रही हैं, लेकिन हमारी छोरियों को हराने का उनका सपना ज़रूर टूट गया है। क्रिकेट के मैदान में छोरों को पस्त करने के बाद पाकिस्तान की गर्लगैंग भी इसी उम्मीद से आईं थीं, कि इन इंडियन छोरियों को तो यूं निपटा देंगे, लेकिन नौ बार की तरह 10 वीं बार भी पाकिस्तानी लड़कियां भारतीय लड़कियों से पिटकर लौटीं हैं। 

विमेन्स वर्ल्ड कप के भारत-पाकिस्तान मुकाबले में भारत ने पाकिस्तान को 95 रनों की करारी शिकस्त दे दी। ये भारतीय महिला क्रिकेट टीम की वर्ल्ड कप में लगातार तीसरी जीत है। इसके साथ पाकिस्तान ने महिला टीम से लगातार 10 बार वन-डे हारने का रिकॉर्ड भी अपने नाम कर लिया है। 

जरुर पढ़ें:  हार्दिक पांड्या को इस हिरोइन ने पूरी दुनिया के सामने कहा- I Love U

रविवार को टॉस जीतने के बाद भारतीय टीम पहले बल्ला लेकर मैदान में उतरी तो सबको लगा लक्ष्य बड़ा खड़ा होगा, लेकिन 50 ओवर में 9 विकेट खोकर भारतीय टीम के हाथों सिर्फ 169 रन ही आए। पाकिस्तान के सामने जीत के लिए 170 रन का मामूली सा स्कोर था, लेकिन एकता बिष्ट की घातक गेंदबाज़ी के आगे पाकिस्तानी टीम 75 रन भी नहीं बना पाई। एकता ने अपनी धारदार बोलिंग से 24 रन तक पहुंचते-पहुंचते पाकिस्तान की आधी टीम को पविलियन वापस भेज दिया था।

एकता बिष्ट ने पांच विकेट झटके

पांच विकेट लेकर जीत की हीरो रही एकता को मैन ऑफ द मैच चुना गया। एकता के अलावा मांसी जोशी, हरमनप्रीत कौर, झूलन गोस्वामी और दीप्ति शर्मा को भी 1-1 विकेट मिला। पाकिस्तानी टीम की शुरूआत इतनी खराब हुई, कि एक वक्त तो लग रहा था, कि शायद पाकिस्तान 50 रन के आंकड़े को भी नहीं छू पाएगा, लेकिन किसी तरह कप्तान सना मीर और नश्रा संधू के बल्लेबाज़ी की वजह से पाकिस्तानी टीम की थोड़ी नाक बच गई।

Loading...