भारत-पाकिस्तान का मैच किसी फाइनल से कम नहीं होता और इस बार चैम्पियंस ट्रॉफी के फाइनल में ये दोनों टीमें ही आमने-सामने हैं। 10 साल बाद किसी आईसीसी टूर्नामेंट के फाइनल में दोनों टीमें आमने-सामने होंगी। इससे पहले भारत ने 2007 में टी20 वर्ल्ड कप के फाइनल में पाक को हराया था। खिताब की दावेदार टीम इंडिया और अंडरडॉग कही जा रही पाकिस्तानी टीम के बीच रविवार को कड़ी टक्कर देखने को मिलेगी। इस बार भी टीम इंडिया को जीत का दावेदार माना जा रहा है, लेकिन जिस तरह से पाकिस्तान ने पिछले तीन मैचों में परफॉर्म किया है, उससे विराट कोहली को अलर्ट रहने की जरूरत है। ये हाईवोल्टेज फाइनल 18 जून को खेला जाएगा।

स्पेशलिस्ट बॉलर्स नहीं दिला पा रहे ब्रेक-थ्रू

R. Ashwin

बांग्लादेश के खिलाफ टीम इंडिया भले ही सेमीफाइनल जीत गई हो, लेकिन एक वक्त तमीम इकबाल (70) और मुश्फिकुर रहीम (61) की 123 रन की पार्टनरशिप ने उसकी टेंशन बढ़ा दी थी। तब टीम को स्पेशलिस्ट बॉलर्स विकेट नहीं दिया पाए और कप्तान ने केदार जाधव को ट्राय किया। जाधव ने अपने दूसरे ओवर की आखिरी बॉल पर तमीम का अहम विकेट निकाल लिया। दूसरे सेट बैट्समैन रहीम को भी जाधव ने ही आउट किया। जाधव ने मैच में 6 ओवर में 22 रन देकर 2 विकेट लिए। उनका इकोनॉमी रेट 3.66 रहा। सिर्फ भुवनेश्वर ही टीम को शुरुआती 2 विकेट दिला सके थे। वहीं, बुमराह रन रोकने में तो कामयाब रहे, लेकिन जरूरत के वक्त विकेट नहीं निकाल सके। अश्विन, जडेजा और पंड्या भी जिसके लिए जाने जाते है वो भारत को ब्रेक-थ्रू नहीं दिला पाए है….यही वजह थी की भारत ने श्रीलंका के खिलाफ 300+ रन बनाकर भी हारे गई थी..

जरुर पढ़ें:  विराट को मिला 31 साल पुरानी हार का बदला चुकाने का मौका

खतरा बन सकते हैं पाकिस्तानी ओपनर्स, बना चुके हैं 307 रन

Azhar Ali

अजहर अली- 4 मैचों में 169 रन। 76 रन बेस्ट स्कोर, 2 हाफ सेन्चुरी लगा चुके हैं। ओपनर हैं। हर मैच में अब तक बढ़िया शुरुआत दी। टिक कर खेलने में माहिर हैं। फखर जमानः चैम्पियंस ट्रॉफी से ही वनडे डेब्यू किया। 3 मैचों में 138 रन। 57 रन बेस्ट स्कोर, ये भी 2 हाफ सेन्चुरी लगा चुके हैं। अली के साथ ओपनिंग करते हैं। 118 का शानदार स्ट्राइक रेट है। इंग्लैंड के खिलाफ पिछले मैच में दोनों ने 118 रन की सेन्चुरी पार्टनरशिप की थी। इनके अलावा कप्तान सरफराज अहमद और बाबर आजम भी अच्छे फॉर्म में हैं।

जरुर पढ़ें:  पाकिस्तानी ऐक्ट्रेस ने रमजान के महीने में लगाई पाखंडियों को फटकार

इस पाकिस्तानी बॉलर से रहना होगा सतर्क, ले चुका है 10 विकेट

Hasan Ali

हसन अली टूर्नामेंट में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले बॉलर हैं। 4 मैचों में 10 विकेट ले चुके हैं। इकोनॉमी रेट (4.52) भी बेहद शानदार है।….भारत के खिलाफ पहले मैच में हसन ने 1 विकेट लेकर 70 रन खर्च कर दिए थे, लेकिन उसके बाद से वो लय में दिख रहे हैं और सभी मैचों में तीन-तीन विकेट लिए हैं। उनके अलावा जुनैद खान भी 3 मैचों में 7 विकेट ले चुके हैं। इन दोनों बॉलर्स ने ही टीम को हर मैच में पहले 10 ओवर्स में विकेट दिलाए हैं।

खराब फील्डिंग न पड़ जाए भारी

पाकिस्तान के खिलाफ पहले मैच में टीम इंडिया 124 रन से जीती, लेकिन मैच में 3 कैच छोड़े  श्रीलंका के खिलाफ दूसरे मैच में टीम इंडिया 7 विकेट से हारी। केदार जाधव और हार्दिक पंड्या ने कैच छोड़े। साउथ अफ्रीका के खिलाफ तीसरे मैच में टीम इंडिया 8 विकेट से जीती, लेकिन हार्दिक पंड्या ने हाशिम अमला का कैच छोड़ा था। बांग्लादेश के खिलाफ सेमीफाइनल मैच टीम इंडिया ने 9 विकेट से जीता, लेकिन मैच में अश्विन ने एक कैच छोड़ा। रोहित शर्मा ने रनआउट का चांस छोड़ा।

जरुर पढ़ें:  इंडिया के धुरंधरों का नहीं चला जादू, पांड्या ने बचाई इज्जत : Ind Vs SA

अगर पहले बैटिंग की तो होगा नुकसान

टीम इंडिया ने अब तक 4 मैचों में से दो में पहले बैटिंग की और दो में बाद में। पहले बैटिंग करने के बाद उसने एक मैच जीता (v पाकिस्तान) और एक हारा (v श्रीलंका)। जबकि, चेज करते हुए दोनों मैच (साउथ अफ्रीका और बांग्लादेश) जीते वहीं, पाकिस्तान ने चारों मैचों में बाद में बैटिंग की है। इसमें से तीन मैचों में उसे जीत मिली। एकमात्र हार का सामना उसे भारत के खिलाफ करना पड़ा था। इंग्लैंड की पिच और बारिश की संभावना को देखते हुए पहले बॉलिंग करना ही ज्यादा सेफ है। इससे चेज करने के लिए आपके पास सेट टारगेट होगा।

Loading...