18 अप्रैल का दिन भारत और पाकिस्तान के क्रिकेट प्रेमी कभी नहीं भूल सकते। आस्ट्रियल-एशिया कप के फाइनल मैच के आखिरी ओवर की आखिरी गेंद और जावेद मियांदाद का छक्का जिसके कारण भारत हार गया था….भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली के पास 31 साल पुरानी हार का बदला लेने का मौका है। आस्ट्रियल-एशिया कप के फाइनल मैच शारजाह क्रिकेट स्टेडियम में 18 अप्रैल 1986 को खेला गया था। इस मैच में पाकिस्तान ने टॉस जीत कर पहले गेंदबाजी करने का फैसला लिया।

virat kohli

पहले बल्लेबाजी करने उतरी भारतीय टीम ने 7 विकटों के नुक्सान पर 245 रन बनाए। भारत की तरफ से सबसे अधिक रन गावस्कर ने 134 गेंदों पर 2 छक्कों और 8 चौकों की मदद के साथ 92 रन बनाए। भारत की तरफ से ओपनिंग करने आए श्रीकांत ने 80 गेंदों पर 75, वेंगसरकार 64 गेंदों पर 50 और चेतन शर्मा ने 10 गेंदों पर 10 रन बनाए। लक्ष्य का पीछा करने उतरी पाकिस्तान की टीम के जावेद मियांदाद ने 114 गेंदों में 3 छक्के और 3 चौकों की मदद के साथ 116 रन बनाए और अपनी टीम को चेतन शर्मा की आखिरी गेंद पर छक्का मार कर जीत दिलाई। इस मैच में जावेद मियांदाद को पलेयर ऑफ मैच के साथ सम्मानित किया गया।

जरुर पढ़ें:  IPL के शूरू होने से पहले ही लगा इन दो टीमों को बड़ा झटका, जाने कैसे?

आपको बता दें कि विराट कोहली की कप्तानी में भारतीय टीम का इस सीरीज में बढिय़ा प्रदर्शन रहा और भारत ने अपने पहले मैच में पाकिस्तान को 124 रन के साथ हराया था। भारतीय टीम की तरफ से पाकिस्तान के साथ होने वाला अगला फाइनल मुकाबला 18 जून को खेला जाएगा, केनिंगटन ओवल स्टेडियम में यह दोनों टीमें आमने-सामने होंगी। जिस में भारतीय टीम जीत के इरादे के साथ मैदान में उतरेगी और पाकिस्तान के पास से आस्ट्रियल एशिया कप में मिली हार का 31 साल बाद बदला लेगी।

ऐसे पाकिस्तान से हारा था इंडिया, देखिए वीडियों…