अपनी बल्लेबाजी के लिए दुनिया भर में जाने जाने वाले विराट कोहली की कलाई के हुनर के भारत ही नहीं दुनिया के कोने-कोने में फैंस हैं। इग्लैंड में चल रही चैंपियस ट्रॉफी में कोहली अपने वनडे कैरियर की 175 पारी में 8000 रन बनाने वाले पहले बल्लेबाज़ बन गए हैं, इसके साथ ही उन्होंने दक्षिण अफ्रीका के विस्फोटक बल्लेबाज एबी डिविलियर्स और टीम इंडिया के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली के रिकॉर्ड को भी ध्वस्त कर दिया है, लेकिन कोहली का एक ऐसा रिकॉर्ड भी है जिसके बारे में बहुत कम ही लोग जानते हैं। कोहली ने बतौर बल्लेबाज नहीं, बल्कि गेंदबाज के तौर पर एक अनोखा रिकॉर्ड कायम किया है।

जरुर पढ़ें:  26 गेंदों में शतक-6 बाॅल पर 6 छक्के, ये कारनामा है बाबर आज़म और शोइब मलिक का

बात साल 2011 की है। भारत और इंग्लैंड के बीच ओल्ड ट्रैफर्ड में टी-20 मैच खेला जा रहा था। भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 19.4 ओवर में 10 विकेट खोकर 165 रन बनाए। इस स्कोर का पीछा करते हुए इंग्लैंड की टीम बल्लेबाजी करने के लिए मैदान पर उतरी। कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने पारी के आठवें ओवर में विराट कोहली को गेंद थमाई। इंग्लैंड का स्कोर 2 विकेट पर 60 रन था और सामने थे केविन पीटरसन। कोहली ने पहली गेंद फेंकी जो लेग साइड की तरफ बाहर चली गई। अंपायर का इशारा वाइड था, लेकिन पीटरसन शॉट लगाने के चक्कर में क्रीज से बाहर चले गए। इस दौरान विकेटकीपर धोनी ने फुर्ती दिखाते हुए उन्हें स्टंप आउट कर दिया। इस तरह विराट कोहली ने करियर की पहली गेंद वाइड फेंकी और उसपर विकेट ले लिया।

जरुर पढ़ें:  ये फेमस क्रिकेटर शादी से पहले ही बन गए थे पापा
ऐसे आउट हुए थे केविन पिटरसन

टी-20 में ऐसा कारनामा करने वाले वो पहले और इकलौते खिलाड़ी हैं। ये मैच तो भारत ने गंवा दिया था, लेकिन कोहली का नाम क्रिकेट इतिहास में दर्ज हो गया। खास बात तो ये है, कि अभी तक कुल  गेंदबाजों ने अंतर्राष्ट्रीय टी20 में अपने पहले मैच की पहली गेंद पर विकेट लिया है, लेकिन कोहली जैसा कारनामा अभी तक कोई गेंदबाज़ नहीं दोहरा पाया है।

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here